Moral Stories in Hindi | दयालु लकड़हारा

इस लेख मैं आप जानेंगे Moral Stories in Hindi दयालु लकड़हारा के बारे मैं जो लकड़ी की तलाश मैं जंगल गया हुआ था | यह एक नैतिक कहानी हैं,जिसको पड़ने के बाद एक अलग ही लेवल की मोटिवेशन जिंदगी मैं आती है |

दयालु लकड़हारा


Moral Stories in Hindi | दयालु लकड़हारा | Dayalu Lakadhara

 बहुत समय पहले की बात है। किसी गाँव में रामू नाम का एक गरीब लकड़हारा रहता था। वह दूसराे की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता।जीवाें के प्रति उसके मन में बहुत दया थी। एक दिन वह जंगल से लकड़ी ईकट्टा करते करते काफी थक गया था। ताे वह थाेड़ी देर आराम करने के लिए एक पेड़ के नीचे बैठ गया।


उसे थोड़ी बहुत नींद आ ही रही थी। कि तभी उसे सामने के पेड़ से पक्षियों के बच्चाें के ज़ाेर-ज़ाेर से चीं-चीं करने की आवाज़ सुनाई दी। उसने जब सामने वाले पेड़ को देखा ताे डर गया।एक बड़ी जहरीला सांप, घाेसले में बैठे चिड़िया के बच्चाें की तरफ बढ़ रहा था। बच्चे उसी के डर से चिल्ला रहे थे। रामु बच्चे को देखकर दया आ गयी।रामू तुरंत उन्हें बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ने लगा।


रामु को देखते ही सांप डर के मारे नीचे उतरने लगा। उसी दाैरान चिड़िया भी लाैट आई। उसने जब रामू काे पेड़ पर देखा ताे समझा कि उसने बच्चाें काे मार दिया।वह रामू काे चाेच मार-मारकर चिल्लाने लगी। उसकी आवाज़ से और चिड़िया भी आ गईं। सभी ने रामू पर हमला कर दिया। बेचारा रामू किसी तरह पेड़ से नीचे उतरा।


चिड़िया जब घाेसले में गई ताे उसके बच्चे सुरक्षित बैठे थे। बच्चाें ने चिड़िया काे सारी बात बताई ताे उसे अपनी गलती का एहसास हुआ।वह रामू से माफी मांगना चाहती थी, और उसका शुक्रिया अदा करना चाहती थी। उसे कुछ दिन पहले दाना ढूंढ़ते हुए एक कीमती हीरा मिला था।


उसने हीरे काे अपने घाेसले में लाकर रख लिया था। चिड़िया ने वह हीरा रामू के आगे डाल दिया और एक डाली पर बैठकर अपनी भाषा में धन्यवाद करने लगी।रामू ने हीरा उठा लिया और चिड़िया की तरफ हाथ उठाकर उसका धन्यवाद किया और वहां से चल दिया। तभी कई चिड़िया आईं और उसके ऊपर उड़कर साथ चलने लगीं मानाे वे उसका आभार करते हुए विदा करने आई हाें।


Moral of The Stories :-

किसी भी जीव पर किये गये उपकार का फल सदैव ही सकारात्मक नतीजे के रूप में वापस मिलता हैं।


Conculasion :-

उम्मीद करता हूं, आप सभी को Moral of The Stories कहानी अच्छी लगी होगी। अगर अच्छी लगी है, तो hindistories.world अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। साथ ही एक प्यारा सा कमेंट जरूर करें। आपकी कमेंट हीहमें अच्छे-अच्छे कहानियां लिखने के लिए प्रेरित करती है। इस कहानी से संबंधित कोई भी शिकायत या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.