Top 10 Moral Stories in Hindi |अजगर और कहली की रोमांचक कहानी

आज मैं आपलोगो के लिए लेकर आया हूँ, एक बहुत ही मजेदार Top 10 Moral Stories in Hindi जिसको पड़ने के बाद आप रोमांचित हो जायेंगे। और आपको समझदारी भी मिलेंगी की किसी भी समस्या का हल कैसे निकला जाता है। धैर्य के साथ तो चलो बिना देरी किये कहानी की शुरुआत करते है। और कहानी का आनंद उठाते है।

Top 10 Moral Stories in Hindi
अजगर और कहली की रोमांचक कहानी

Top 10 Moral Stories in Hindi | अजगर और कहली की रोमांचक कहानी

अजगर और कहली की रोमांचक कहानी जिसको सत्य बोल जाता है। लेकिन ऐसा कभी हुआ या नहीं यह सच है, या झूठ। आइए इस फेर में न पड़कर हम इस इस रोमांचक भरी कहानी को सुने जो इस कहानी में कहा गया है। तो कहानी यह है, 

कभी केन्या देश में एक बहुत ही भयानक अजगर कहीं से आ गया। उसने जंगल के बीच एक पहाड़ के दामन में एक गहरी सी खोह बना ली। और आराम करने के लिए लेट गया, उसने बहुत देर तक आराम किया या थोड़ी देर, यह तो राम जाने।

मगर जैसे ही वह उठा, वैसे ही सब को सुनाते हुए चिल्लाया सुनो- लोगो, पुरुषो और नारियों बूढ़े और जवानों तुम मे से प्रत्येक कोई हर दिन मेरे लिए कोई न कोई भेंट लेकर आएगा। कोई गाय, कोई भेड़ या कोई सुअर जो कोई ऐसा करेगा। वह जिन्दा रहेगा, और जो ऐसा नहीं करेगा। मैं उसे खा जाऊंगा।

लोग,डर सहम गए। और वे अजगर के पास भेंट ले लेकर आने लगे। यह सिलसिला काफी अर्से तक चलता रहा, आखिर वह दिन आया जब उनके पास ले जाने के लिए कुछ भी बाकी न रहा, उनकी हालत बिल्कुल खस्ता हो गई।

मगर अजगर ऐसा था, कि भेट पाए बिना एक दिन भी न रह सकता था। तब वह कभी एक और कभी दूसरे गांव में उड़ उड़कर जाने लगा, और लोगों को पकड़कर अपनी खोह में ले जाने लगा। लोग बदहवास से घूमते जोर जोर से रोते जान बचाने की भीख मंगा करते।

मगर अजगर से बचने का कोई उपाय न ढूंढ पाते

इसी समय कहली नाम का एक व्यक्ति इस देश में आ पहुचा। उसने देखा कि लोग मुंह लटकाए और परेशान हाल मै घूम रहे हैं। हाथ मलते और आसू बहाते हैं, क्य मुसीबत आ गई है, तुम लोगों पर।

उसने पूछा तुम सभी इस तरह फूट फूटकर क्यों रो रहे हो। लोगों ने उसे अपनी दर्दभरी कहानी कह सुनाई। शान्त हो जाओ, कहली ने उन्हें तसल्ली दी। मैं तुम्हें अजगर से बचाने की कोशिश करूंगा।

वह एक मोटा सा सोटा लेकर उस जंगल में जा पहुंचा, जहा अजगर रहता था। अजगर ने उसे देखा तो अपनी हरी हरी आंखो को इधर उधर घुमाते हुए पूछा- तुम यह सोटा लिऐ हुए यहां किसलिये आए हों।
तुम्हारी पिटाई करने, कहली ने कहा "अरे वाह"

अजगर ने हैरान होकर कहा- बेहतर यही है, कि सर पर पैर रखकर यहां से भाग जाओ, वरना बाद में पछताओगे। मैं जैसे ही फूंक मारूंगा, वैसे ही तुम अपने पैरों पर खड़े नहीं रह सकोगे, उड़कर तीन कोस दूर जा गिरोगे।
कहली हंसकर बोला- बहुत बढ़-चढ़कर बातें न कर बेवकूफ! बहुत देखे हैं, मैने तेरे जैसे! देखेंगे कि कौन हम दोनों में से ज्यादा जोर से फूंक मारता है। अजगर ने इतना जोर से फुंक मारा की वृक्ष के पत्ते झड़कर नीचे गिर गए, और कहली घुटने के बल ढह पड़ा।

उठकर खड़े होते हुए वह बोला- अरे यह तो कुछ भी नहीं! यह भी कोई फूंक मारना हुआ। इससे तो मुर्गियों को भी हंसी आ सकती है। लो अब मैं फूंक मरता हूं, हां मगर तुम अपनी आंखों पर पट्टी बांध लो, वरना तुम्हारी पुतलियां निकलकर बाहर जा गिरेगी। अजगर ने आंखों पर रूमाल बांध लिया। किशोर उसके पास गया और उसने अपना सोंटा घूमाकर इतनी जोर से अजगर के सिर पर मारा कि उसकी आंखों से चिनगारिया फुट निकली।

क्या तुम सचमुच ही मुझसे ताकतवर हो,

अजगर बोला- अच्छा आओ, हम एक और चीज आजमा कर देखें, देखें तो कि हम दोनों में से कौन जल्दी पत्थर तोड़ सकता है। अजगर ने बीस फीट की चट्टान उठाई, और उसे पंजों से ऐसे दबाया कि वह चूर-चूर हो गई, और धूल का बादल ऊपर उठ गया। इसमें तो अचंबे की कोई बात नहीं है,
कहली ने हंसकर कहा- तुम इसे ऐसे दबाओ की चट्टान में से पानी निकल आए।

अजगर डर गया, उसे लगा कि कहली सचमुच ही उसे ताकतवर है, उसने कहली के सोंटा की ओर देखा और बोला- जो चाहो मांग लो, मैं तुम्हें मुंह मांगी चीज दूंगा। मुझे कुछ भी नहीं चाहिए, कहली ने जवाब दिया मेरा घर भरा पूरा है, तुमसे कई ज्यादा धन दौलत है, मेरे पास। अरे रहने दो अजगर ने विश्वास नहीं किया, विश्वास नहीं करते तो चलो चल कर देख लो कहते हुए।

एक झगड़े पर सवार होकर चल दिए इसी समय अजगर को भूख सताने लगी। उसने जंगल के छोर पर भैस का एक झुंड देखा। और कहली से बोला जाकर एक भैस पकड़ लाओ। हल्का सा नाश्ता हो जायेगा। कहली जंगल में जाकर बड़े वृक्ष के छाल को उतारने लगा। अजहर इंतजार करता रहा, करता रहा और आखिर उसे खोजने के लिए खुद जंगल में पहुंचा।

इतनी देर क्यों लगा दी तुमने, छाल उतार रहा हूं, इसका क्या करोगे? रस्सी बाटूंगा, ताकि खाने के लिए पांच भैस एक बार मै ही पकड़ लूं। हमें पांच भैस का क्या करना है? हमारे लिए तो एक ही काफी है, अजगर ने एक भैस को गर्दन से पकड़ा और उसे झगड़े के पास खींच लाया।

अब जाओ, और इस भैस को भूनने के लिए थोड़ी लकड़ी ले आओ। अजगर ने कहली से कहा- कहली जंगल में जाकर बालूद के नीचे बैठ गया। उसने एक सीक्रेट बनाई, और इत्मीनान से कश लगाने लगा। अजगर ने बहुत देर तक इंतजार किया। और जब सब्र का प्याला छलक उठा, तो कहली को खोजने गया। इतनी देर क्यों लगा दी?

उसने पूछा- मैंं तो चीड़ के कोई 10 एक वृक्ष गिरा लेना चाहता हूं, इसलिए उनमें से सबसे मोटी वृक्ष चुन रहा हूं, 10 चीजों का हमें क्या करना है! हमारे लिए तो एक ही काफी है। अजगर ने सबसे मोटे वृक्ष को नीचे गिरा लिया, अजगर ने भैस को भुना और कहली को साथ देने के लिए निमंत्रित किया। 

तुम खुद ही खाओ, कहली ने कहा- मैं तो घर जाकर ही खाऊंगा। मेरा क्या बनेगा एक भैंस से मेरे लिए तो वह ऊँट के मुंह में जीरे के बराबर ही रहेगा। अजगर ने भैंस को खाने के बाद जीभ मे होंठ फेरते हुए झबड़ा बढ़ाते गई और जल्द किशोर के घर के करीब जा पहुंचे।

बच्चों ने अपने पिता को दूर से आते देखा, तो खुशी से चिल्लाई पिताजी आ रहे हैं, पिताजी आ रहे हैं। मगर अजगर नहीं समझ पाया कि बच्चे क्या चिल्ला रहे हैं, इसलिए उसने पूछा क्या चिल्ला रहे हैं, ये बच्चे। तो कहली ने कहा- वह खुश है, कि मैं तुम्हें उनके खाने के लिए घर लिए जा रहा हूं।

उन्हें बहुत भूख लगी है, इस समय तक अजगर बहुत भयभीत हो चुका था। इसलिए वह झबड़ा से कूदा और सर पर, पैर रखकर जैसे तैसे भागा। मगर वह रास्ता भूल गया और दलदल में जाकर फंस गया, दलदल इतनी गहरी थी, इतनी गहरी थी। कि उसके तलहटी का कहीं अता-पता न था। अजगर उसमें धंसता गया धंसता गया, और उसी में डूब कर मर गया। और इस तरह से उस भयानक अजगर का अंत हो गया।

Moral Of The Story | कहानी की सीख

दोस्तों इस कहानी से हमें यह सीख सीखने को मिलती है, कि मुश्किल परिस्थिति में हमें समझदारी से काम करने पर आसानी से बाहर निकाला जा सकता है मुश्किलों से हमें घबराना नहीं चाहिए, स्थिति चाहिए कैसी भी हो हमें समझदारी बनाई रखनी चाहिए।

अगर कहानी आपको अच्छी लगी हो तो, अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। साथ ही ऐसे ही मजेदार और प्रेरणात्मक कहानियां पड़ने के लिए हमारी वेबसाइट Hindistories.World पर जरूर आए। आपको यह कहानी पढ़कर कैसी लगी, नीचे कमेंट बॉक्स मैं, कमेंट जरूर करें।

Related Post :-

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.